SEBI Self Certification Exam 2024: सेबी ने शुरू की निवेशकों के लिए सर्टिफिकेशन परीक्षा

SEBI Self Certification Exam 2024: बी निवेशक प्रमाणन परीक्षा (SICE) नामक एक निःशुल्क, स्वैच्छिक ऑनलाइन प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम चला रहा है, ताकि उम्मीदवारों को शेयर बाजार निवेश के बारे में व्यापक ज्ञान प्रदान किया जा सके।

SEBI Self Certification Exam 2024: पूंजी बाजार नियामक सेबी ने मंगलवार को निवेशकों के लिए एक निःशुल्क एवं स्वैच्छिक ऑनलाइन प्रमाणन परीक्षा शुरू की, जो व्यक्तियों को शेयर बाजार में निवेश के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने में मदद करेगी।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) ने अपने बयान में कहा कि राष्ट्रीय प्रतिभूति बाजार संस्थान (NISM) के सहयोग से विकसित इस स्वैच्छिक प्रमाणन का उद्देश्य निवेशकों को बाजारों और निवेश के बारे में अपनी जानकारी को परखने में मदद करना है।

प्रमाणन परीक्षा को भारतीय प्रतिभूति बाजारों में निवेश के बारे में विस्तृत ज्ञान पाने की उनकी यात्रा में व्यक्तियों की सहायता के लिए डिजाइन किया गया है। इस परीक्षा की शुरुआत के मौके पर सेबी के पूर्णकालिक सदस्य अनंत नारायण जी ने कहा कि नई प्रमाणन परीक्षा प्रतिभूति बाजार में डिजिटल वित्तीय शिक्षा को बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

उन्होंने यह भी कहा की, ‘‘यह ऑनलाइन परीक्षा निवेश प्रक्रिया और प्रतिभूति बाजार में संबंधित जोखिमों के बारे में निवेशकों की समझ बढ़ाने में मदद करेगी। इस तरह यह जोखिम उठाने की क्षमता के अनुरूप निवेश का एक कुशल नजरिया अपनाने को बढ़ावा देगी। ’’

सेबी क्या है?

सेबी का मतलब है भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड। यह एक वैधानिक विनियामक निकाय है जिसकी स्थापना भारत सरकार ने 1992 में प्रतिभूति बाजार को विनियमित करने के साथ-साथ प्रतिभूतियों में निवेश करने वाले निवेशकों के हितों की रक्षा के लिए की थी। सेबी यह भी नियंत्रित करता है कि शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं।

सेबी के उद्देश्य

  • सेबी के कुछ उद्देश्य निम्नलिखित हैं:
    निवेशक संरक्षण: यह सेबी की स्थापना के सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्यों में से एक है। इसमें निवेशकों के हितों की रक्षा करना शामिल है, जिसमें मार्गदर्शन प्रदान करना और यह सुनिश्चित करना शामिल है कि किया गया निवेश सुरक्षित है।
  • धोखाधड़ी की प्रथाओं और कदाचारों को रोकना जो स्टॉक एक्सचेंज की गतिविधियों के व्यापार और विनियमन से संबंधित हैं।
  • वित्तीय मध्यस्थों जैसे अंडरराइटर, ब्रोकर आदि के लिए आचार संहिता विकसित करना।
  • वैधानिक विनियमन और स्व-विनियमन के बीच संतुलन बनाए रखना।

 

सेबी के कार्य

सेबी के निम्नलिखित कार्य हैं
सुरक्षात्मक कार्य
विनियामक कार्य
विकास कार्य

 

♦ Nifty Created New History In Stock Market: निफ्टी ने रचा नया इतिहास, तो सेंसेक्स ने भी लगाया जोर

♦ Gold Silver Price Today: चांदी ने लगाई 2600 रुपये की छलांग

♦ Ration Card e-KYC: जल्द से जल्द कराएं राशन कार्ड ई-केवाईसी, वर्ना हो जाएगा नुकसान

 

Hope you like this content and found it useful, Subscribe us for daily updates.

Share This Post:

Leave a Comment